UP Agriculture free Registration – उत्तर प्रदेश एग्रीकल्चर पंजीयन – 2021

0
101
Up agriculture
Image Credit thesarkariyojna.in
93 / 100

UP Agriculture Registration– उत्तर प्रदेश एग्रीकल्चर – 2021

जैसा की आप सभी जानते हैं की कृषि उत्तर प्रदेश की अर्थव्यवस्था के साथ-साथ पुरे देश की रीढ़ की हड्डी है. इसलिए सरकार अनेकों प्रकार से किसानों की मदद करना चाहते हैं. किसानों की आर्थिक स्तिथि को देखते हुए सरकार ने पीएम किसान सम्मान योजना को लाये है|

जिसके तहत किसानों की आर्थिक सहायता के लिए हर साल 6000 की राशि प्रदान करेगा. ये राशि तीन किश्तों में दिया जाता है. वैसे इसके बारे में हमने पहले से आर्टिकल लिखा हुआ है, जिसमे हमने इससे सम्बन्धित पूरी जानकारी दी है. आप उस पोस्ट को पढ़ सकते हैं.

पीएम किसान सम्मान निधि योजना के लिए रजिस्ट्रेशन करने के लिए देश के राज्य सरकारों को इसकी जिम्मेदारी दी गयी है. मतलब इस योजना के लिए apply करने के लिए सबसे पहले आपको अपने state के agriculture department की website में जाकर रजिस्ट्रेशन करना होगा. उसके बाद आप किसान सम्मान योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन दे पाएंगे.

यदि आप एक किसान हैं या फिर आप एक किसान परिवार से आते हैं और आप सरकार के द्वारा किसानों को दी जाने वाली सुवधाओं का लाभ उठाना चाहते हैं तो इसके लिए आपको किसान पंजिकरण करवाना होगा. इसके लिए हर राज्य के मुख्यमंत्री ने अपना अलग अलग वेबसाइट पोर्टल बनाया है, जिसमे जाकर आप अपना किसान रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं.

आज हम आपको बताने वाले हैं की उत्तर प्रदेश की agriculture department की site में रजिस्ट्रेशन कैसे करें? इससे सम्बन्धित आपको सभी जानकारी देने की कोशिश करेंगे. यदि आप उत्तर प्रदेश के निवासी हैं और आप एक किसान हो तो यह पोस्ट आपके लिए बहुत जरुरी हो सकता है. आज के इस पोस्ट में आपको हम किसान सम्मान योजना के बारे में पूरी जानकारी देने वाले हैं. इसलिए इस पोस्ट को ध्यान से लास्ट तक जरुर पढ़ें.

UP Agriculture Status | Registration Page 2021 |Pm Kisan Registration Online

किसान हमारे देश के बहुत महत्वपूर्ण हिस्सा है. ये लोग ख़ेती करने के लिए बहुत मेहनत करते हैं लेकिन फिर भी इनकी आरती स्तिथि बहुत अच्छी नही होती है. क्योकि खेती में मेहनत तो होता ही है, उसके साथ साथ पैसे भी खर्च करने पड़ते हैं. बहुत सारे किसान पैसे के चलते ठीक प्रकार से खेती नही कर पाते हैं.

किसान बहुत मेहनत किसी प्रकार फसल तैयार कर भी लेते हैं तो कई बार किसी प्राकृतिक आपदा के कारण उनकी फसलें बर्बाद हो जाती है. ऐसे स्तिथि में बहुत सारे किसान मानसिक तनाव का शिकार हो जाते हैं और आत्महत्या कर लेते हैं. आप सभी news में पढ़ते या देखते होंगे की हर साल बहुत से किसान आत्महत्या कर लेते हैं.

किसानों की इन्ही समश्याओं को देखते हुए सरकार ने किसानों के लिए कई योजनायें निकली है. इन योजनाओं के माध्यम से सरकार कई प्रकार की सहायता प्रदान करेगा. जिससे किसान भाइयों को कृषि करने में और भी ज्यादा लाभ मिल पाए. इस योजना का फायदा उठाने के लिए किसानों को agriculture department की वेबसाइट में जाकर रजिस्ट्रेशन करवाना होगा. हर राज्य के लिए अलग-अलग agriculture portal बनाये गये हैं.

किसान रजिस्ट्रेशन करवाने के लिए आपको अपने राज्य के एग्रीकल्चर डिपार्टमेंट की वेबसाइट में जाना होगा. उसके बाद वहाँ पर आपको अपने बारे में पूरा ब्यौरा भरना होगा, उसके बाद ही आप अपना रजिस्ट्रेशन करवा पाएंगे. इस योजना के लिए आवेदन करते समय किसानों के बैंक खाते की details भी मांगी जाती है, जिससे उन्हें सरकार द्वारा आर्थिक मदद सीधे उनके बैंक खाते में भेजे जा सके.

इसके अलावा भी बहुत साड़ी जानकारी किसानों को भरना होगा. जिससे सरकार को पता चल पायेगा की आप कितना खेती करते हो ताकि सरकारी उसी के हिसाब से आपको अनेक योजनाओं का लाभ दे पायेगा.

UP Agriculture Kisan Registration 2021

जैसा की हमने आपको ऊपर बाताया की भारत सरकार किसानों के लिए कई तरह की योजनायें लेकर आये हैं. इन योजनाओं का लाभ उठाने के लिए आपको अपने state के agriculture department की वेबसाइट में जाकर किसान रजिस्ट्रेशन करवाना होगा. इसके लिए आपको कई प्रकार की details पूछे जायेंगे. साथ ही यहाँ आपको अपने बैंक खाता का details भी देना होगा. जिससे सरकार आपके बैंक खाते में योजनाओं के लाभ के लिए आर्थिक मदद कर पाए.

यदि आप उत्तर प्रदेश के हैं तो आपको http://upagriculture.com/ की website में जाकर kisan registration करवाना होगा. फिर आपका ब्यौरा सरकार के पास चले जायेगा और आप भी सरकार द्वारा दिए गये किसान योजनाओं का लाभ उठा पाएंगे. आपको बता दें की सरकार केवल उन किसानों का हिसाब रखता है जो अपना किसान रजिस्ट्रेशन करवा लिया है.

इसलिए अगर आपने अभी तक रजिस्ट्रेशन नही करवाया है तो जल्द से जल्द करवा लीजिये. हम आपको इस पोस्ट में जानकारी देने वाले हैं की आप उत्तर प्रदेश के agriculture department की website में जाकर अपना किसान रजिस्ट्रेशन कैसे करवा सकते हो. अगर आप उत्तर प्रदेश के रहने वाले किसान हैं तो इस पोस्ट को आगे पढ़िए. यदि आप किसी अन्य राज्य से हैं तो इसके लिए हमने पहले से पोस्ट लिखा हुआ है. आप ऊपर search icon पर click करके खोज सकते हैं.

Services  provided by UP Agriculture department | यूपी किसान पोर्टल द्वारा दी जाने वाली सेवाएँ

यूपी किसान पंजीकरण करने के बारे में जानने से पहले हम ये जान लेते हैं की यदि आप इसमें किसान के रूप में रजिस्टर हो जाते हैं तो आपको उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा कौन कौन सी सेवाएँ प्रदान किये जायेंगे. इसके लिए हमने निचे एक एक कत्र्के बताया है की आपको upagriculture.com में कौन कौन सी सेवाएँ मिलेगी.

  • किसान पंजिकारण
  • पंजीकरण की रिपोर्ट
  • पंजीकरण की graph
  • किसान सहायता
  • सुझाव एवं शिकायतें
  • कृषकों हेतु सुविधाएँ एवं अनुदान
  • लाभ वितरण हेतु चयनित कृषक
  • अनुदान खाते में भेजने की प्रगति जानें
  • लाभार्थियों की सूची
  • सफलता की कहानी’
  • सुखा राहत प्रगति
  • पंजीकरण की प्रगति
  • कहाँ, किसको क्या लाभ मिला
  • वैज्ञानिकों की बात किसानों के साथ
  • महत्वपूर्ण योजनाओं में लाभ वितरण
  • किसानों के लिए ताजा updates
  • अन्य सूचनाएं.

इसके वेबसाइट में आपको उपर्युक्त सभी सेवाएँ मिलेगी. इसके अलावा भी बहुत साड़ी सुविधाएँ मिलेगी. किसानों को प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत किसानों को 6000 रुपये सालाना मिलेगा. यदि कभी कोई प्राकृतिक आपदा आ जाता है तो किसानों को इसके माध्यम से सहायता पहुंचाई जाएगी. में आपको निचे इसके बारे में विस्तार से जानकारी देने वाला हूँ|

Up agriculture
Image Credit thesarkariyojna.in Up Agriculture

Uttar Pradesh Kisan UP Agriculture Panjikaran / Farmer Registration के फायदे

Kisan Panjikaran करने के बारे में जानकारी जानने से पहले आपको UP Agriculture की वेबसाइट में दी जाने वाली सेवाओं के बारे में विस्तार से जानकारी देना चाहेंगे. ताकि आपको अच्छे पता चल पाए की जब आप Kisan Registration करा लेंगे तो आपको क्या क्या लाभ मिलेंगे.

  1. सरकार के किसान सूची में आपका नाम आ जाता है

हमारे देश में बहुत सारे किसान है लेकिन सरकार के पास उन सभी किसानों के बारे में details पता नही है. जब सरकार के पास सभी कसानों का ब्यौरा हो तभी वो किसान की सहायता के लिए अनेक प्रकार के योजनाओं का लाभ किसानों के पास पहुंचा पायेगा.

इसी को देखते हुए सरकार ने इस पोर्टल के माध्यम से सभी किसानों का डाटा जमा करना शुरू किया. जिससे सरकार सही समय पर किसानों की मदद कर पाए. जो लोग किसान रजिस्ट्रेशन करा लिए हैं, सरकार के पास उन्ही किसानों की जानकारी होती है और सरकार सिर्फ उन्ही किसानों को सहायता कर पाते हैं.

जब आप किसान पंजीकरण करते हैं तो उसमे आपको बहुत साड़ी जानकारी देने पड़ते हैं. और साथ ही आपको अपना बैंक खता details भी देना पड़ता है ताकि सरकार सीधे आपके बैंक खाते में पैसे भेज पाए. ये योजना “पहले आओ पहले आओ” के तहत काम करता है. यानि आप जितना जल्दी हो सके किसान रजिस्ट्रेशन करवा लेते हो तो अच्छा है.

  1. किसानों तक सीधे लाभ पहुँचाना

जब आप किसान पंजीकृत करवा लेते हैं तो सराकर आपके खाते खाते में direct पैसा भेज पायेगा. इसके अलावा भी बहुत सार सुविधाओं का आपको direct फायदा मिल पायेगा. अगर हम पहले की बात करें तो पहले किसानों को direct पैसा नही मिलता था. जिससे कुछ लोगों को पैसे मिलते थे और कुछ लोगों को पैसे नही भी मिल पाते थे. इसलिए सरकार किसान पंजीकरण के समय किसानों से उनका Bank details ले लेता है.

इसी तरह जब आप किसान रजिस्ट्रेशन कर लेते हैं तो आप अपने एंड्राइड फ़ोन में इसके ऑफिसियल एप को इनस्टॉल कर सकते हो. इससे आपको नई नई योजनाओं के बारे में जानकारी मिलेगी. आपको खेती सम्बन्धित टिप्स भी दिए जायेंगे. नये नये updates जान पाएंगे. और भी बहुत सारी सुविधाओं का लाभ आप direct उठा सकते हो.

  1. सुझाव एवं शिकायत

यदि किसानों को किसी प्रकार की समश्या हो रही है तो वो ऐसे स्तिथि में direct कृषि विभाग से शिकायत कर सकता है. पाहले कई बार ऐसा होता था की किसानों को अपनी समश्या कृषि विभाग को बताने में बहुत समय लग जाता था. लेकिन अभी इस पोर्टल के माध्यम से किसी भी समय अपनी शिकायत दर्ज करवा सकता है.

  1. लेटेस्ट अपडेट

जब किसान अपना पंजीकरण करवा लेते हैं तो उनका फ़ोन नंबर भी सरकार के पास चला जाता है. जो किसान मोबाइल एप का उपयोग नही करता है तो उनको sms के माध्यम से सूचित कर दिया जाता है. इससे किसान योजनाओं का लाभ सही समय पर उठा पायेगे.

वरना पहले भी सरकार किसानों के लिए कई योजनायें लाते थे लेकिन अधिकतर किसानों को इसके बारे में जानकारी नही होती थी. जिन किसानों को इसके बारे में पता चलता सिर्फ वे ही इसका लाभ उठा पाते थे. लेकिन अभी सरकार का किसानों के साथ direct connection हो गया है. जिससे समय आने पर किसी भी किसान के पास आसानी से सुचना दे सकता है.

  1. आपदा का लाभ

आप सभी को पता होगा की कृषि कार्य के लिए किसान बहुत मेहनत करते हैं. बहुत मेहनत के बाद फसल आता है फिर जब फसल बड़ा होने लगता है तो कई बार किसी आपदा के कारण उनका फसल बर्बाद हो जाता है. ऐसे में किसानों का सारा मेहनत बर्बाद हो जाता है. ऐसे में जिन किसानों की आर्थिक स्तिथि बेहतर है उन्हें ज्यादा फर्क नही पड़ता है. परंतु कुछ किसान ऐसे भी होते हैं जिनकी आर्थिक स्तिथि ठीक नही होती है. वह किसी तरह ऋण लेकर खेती करते हैं तो ऐसे लोग कई बार मानशिक तनाव के कारण बहुत कुछ कर लेते हैं.

तो किसान पंजीकरण करने के बाद उन किसानों को सरकार की तरफ से आर्थिक सहायता दी जाएगी जिनका फसल किसी आपदा में बर्बाद हो गया है. इसके लिए सरकार जितना हो सकता है किसानों की आर्थिक स्तिथि को बेहतर करने का कार्य करेंगे.

जैसे अभी कोरोना महामारी के लिए भी सरकार ने किसानों के खाते में 2000 रुपये की राशि भेजे हैं. जो लोग इस पोर्टल में रजिस्टर करा लिए थे, उनके खाते में 2000 रुपये आ गये होंगे. किसी भी समय आप पैसे निकाल सकते हैं.

  1. तरह तरह की योजनाओं का लाभ

सरकार अभी किसानों के लिए तरह तारह की योजनायें लाते रहते हैं. जैसे अभी सरकार ने प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना को लाया है. जिसके तहत किसान खेती की सिंचाई के लिए इस योजना का लाभ उठा सकते हैं. इस योजना के बारे में पूरी जानकारी इसके अधिकारिक वेबसाइट में आपको मिल जाएगी. इसी प्रकार और भी योजनायें सरकार लाते रहता है. आप इस पोर्टल के माध्यमसे उन योजनाओं के लिए आवेदन दे सकते हैं और उसका लाभ उठा सकते हैं.

पोर्टल पर नवीन सूचनायें – UP Agriculture

  • कोषागार के नए फॉर्मेट पर DDO लॉग इन में बेनेफिसिअरी फाइल जनरेट करने के लिए Both के विकल्प पर जाकर जनरेट बेनेफिसिअरी फाइल new format (Green Tab)चुनें |
  • चार जनपद शामली,श्रावस्ती,हापुड़ तथा संभल जिनका कोषागार खाता इलाहबाद बैंक में है वे कोषागार के नए फॉर्मेट पर DDO लॉग इन में बेनेफिसिअरी फाइल जनरेट करने के लिए Both के विकल्प पर जाकर जनरेट बेनेफिसिअरी फाइल new format (Blue Tab) चुनें |
  • DBT सम्बन्धी समस्या समाधान के लिए DBT पोर्टल पर “सुझाव एवं शिकायतें” में “कृषि विभाग के अधिकारियों के लिये” लिंक उपलब्ध “ऑनलाइन समस्या निवारण प्रणाली” पर अनुरोध पत्र भेजें| इसके लिये लॉग-इन आई०डी० एवं पासवर्डउप कृषि निदेशक को उपलब्ध कराया गया सी.यू.जी. लॉग-इन आई०डी० एवं पासवर्ड ही होगा |

Required Documents for UP Agriculture pm kisan

यदि आप Farmer Registration करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको कुछ document चाहिए. में आपको निचे इसके बारे में बता रहा हूँ. आप इन डाक्यूमेंट्स को सबसे पहले तैयार करके रख लीजिये.

  • आधार कार्ड
  • वेरीफाई करने के लिए आधार कार्ड से मोबाइल लिंक होना चाहिए या फिर आपके पास बायोमेट्रिक डिवाइस होना चाहिए.
  • बैंक खाता का details जैसे खाता नंबर, ifsc code etc.
  • जमीन का विवरण
  • जमीन के दस्तावेज या एलपी रशीद

महत्वपूर्ण योजनाओं में लाभ वितरण

UP Farmer Registration Page | Up Agriculture Kisan Registration 2021 Online

यदि आप एक किसान है और आप उत्तर प्रदेश के रहने वाले हैं तो आप निचे बताये गये steps को follow करके ऑनलाइन किसान पंजीकरण करवा सकते हो. इससे पहले आपको ऊपर बताये गये दस्तावेजों को ready कर लेना होगा. यदि आप किसी दुसरे राज्य से हो तो उसका process अलग होगा. निचे बताये गये process को सर्फ उत्तर प्रदेश के किसानों को ही follow करना होगा.

  1. सबसे पहले आपको उत्तर प्रदेश की UP Agriculture Department की वेबसाइट में जाना होगा.http://upagriculture.com/Default.aspx
  2. अब यहाँ homepage में “पंजीकरण करें” पर क्लिक करना होगा.
  3. अब आप एक नये webpage में आ जायेंगे. इस पेज में आपको बहुत सारे options दिखाई देंगे. यहाँ पर आपको “कृषि विभाग की योजनाओं हेतु” सेक्शन के निचे “ऑनलाइन पंजीकरण करेंका विकल्प होगा. इस link पर आपको click करना होगा. यहाँ आपको रजिस्ट्रेशन के लिए दो link दिया गया है. एक काम नही करें तो दुसरे link पर क्लिक करे.
  4. अब आपके सामने रजिस्ट्रेशन फॉर्म आ जायेगा. यहाँ पर सबसे पहले आवेदक को अपना आधार नंबर एंटर करके वेरीफाई पर क्लिक करना होगा, उसके बाद आधार कार्ड में दिए गये मोबाइल नंबर पर एक otp आएगा. इसको एंटर करके वेरीफाई कर लीजिये.
  5. अब उसके बाद आपके सामने आवेदन फॉर्म के सारे option आ जायेंगे. इसमें आपको निम्न जानकारी भरनी होगी.अपने बारे में सभी जानकारी भरें जैसे आपका नाम, पता, आदि
  6. उसके बाद आपको अपने बैंक अकाउंट की details भरनी होगी. जैसे बैंक अकाउंट नंबर, ifsc
  7. ऊपर बताई गयी जानकारी को भरने के बाद आपको आवेदन फॉर्म को फाइनल सबमिट कर देना होगा.

जैसे ही आप फॉर्म को सबमिट कर देंगे तो आपको अंत में एक Registration Number मिलता है. इस पंजीकरण संख्या को आपको सुरक्षित रखना होगा. इससे आप भविष्य में अपने रजिस्ट्रेशन की स्तिथि को जान पाएंगे.

जैसे ही आप इस पोर्टल में अपना सफलतापूर्वक पंजीकरण करा लेते हैं फिर आप किसान सम्मान निधि योजना के लिए ऑनलाइन ऑनलाइन आवेदन दे पाएंगे. इसके लिए आपको फिर से UP Agriculture department के वेबसाइट में login करना होगा और फिर वहाँ से आप Kisan Samman Nidhi Yojna के लिए आवेदन कर सकते हो.

UP Kisan UP Agriculture Status Check 2021 | यूपी किसान पंजीकरण की स्तिथि कैसे चेक करें?

यदि अपने ऊपर बताई गयी प्रक्रिया को follow करके अपना किसान पञ्जीकरण कर लिया है तो अब आपको थोडा wait करना पर सकता है. आप निचे बताई प्रक्रिया को follow करके यूपी फार्मर रजिस्ट्रेशन की status check कर सकते हो. इन steps को ध्यान से follow कीजिये.

  1. सबसे पहले आपको इस webpage में जाना होगा.http://www.upagriculture.com/Record_Fatch.aspx
  2. उसके बाद आपको यहाँ पर अपने बारे कुछ details एंटर करना होगा. यहाँ अपना जनपद, ब्लॉक, कृषक सेलेक्ट करें और फिर उसके बाद आप किसान आईडी (जो आपको पंजीकरण के बाद मिलता है) या मोबाइल नंबर, या खाता संख्या से अपना status चेक सकते हो.

इस प्रकार आप आसानी से चेक कर सकते हो की आपका किसान रजिस्ट्रेशन सफल हो पाया है या नही. यदि आपका किसान पंजीकरण सफल हो गया है तो आप किसान सम्मान निधि योजना के लिए इसके अधिकारिक वेबसाइट में लॉग इन करके apply कर सकते हो.

UP Agriculture 81 | upagriculture.com:81 

यूपी एग्रीकल्चर 81 पोर्टल के माध्यम से आप किसान अनुदान सेवाओं के लिए आवेदन कर सकते हो. यदि आप कोई कृषि यंत्र खरीद रहे हैं तो आप यहाँ से अनुदान प्राप्त करने के लिए टोकन जेनेरेट कर सकते हो. हम निचे आपको इसकी सभी सेवाओं के बारे में बता रहे हैं.

  • यन्त्र हेतु टोकन जनरेट करें
  • इनसीटू की नयी व्यवस्था में टोकन जनरेट करें
  • अबतक जारी किये गये टोकन का विवरण
  • योजनावार यंत्रवार टोकन रिपोर्ट
  • योजनावार जनपदवार टोकन रिपोर्ट
  • निर्माता कम्पनियों / फर्मो की इम्पैनलमेन्ट की सूची
  • PM Kisan Samman Nidhi Yojna 

अनुदान भेजने की स्तिथि कैसे जाने | UP Agriculture

यदि आपने कृषि अनुदान के लिए आवेदन किया है और आप जानना चाहते हैं की आपके आवेदन की स्तिथि क्या है, तो इसके लिए आप निचे दिए स्टेप्स को फॉलो कीजिये.

  1. इसके लिए सबसे पहले यूपी एग्रीकल्चर की अधिकारिक वेबसाइट में जाना होगा.
  2. उसके बाद होमपेज पर “अनुदान खाते में भेजने की प्रगति जानें” पर क्लिक करना होगा.
  3. अब अगले पेज में आपको कुछ डिटेल्स एंटर करना होगा. जैसे यहाँ आपको जनपद, ब्लाक, और किसान पंजीकरण संख्या एंटर करना होगा फिर आपको खोजे पर क्लिक करना होगा.
  4. इस प्रकार से आप अपने अनुदान प्रगति स्तिथि चेक कर सकते हो.

पंजीकरण संख्या कैसे जाने? UP Agriculture

यदि आप अपना किसान पंजीकरण संख्या भूल गये हैं तो आप निचे बताये गये स्टेप्स को फॉलो करके आसानी से अपनी पंजीकरण संख्या जान सकते हो. हम आपको निचे में कुछ आसान स्टेप्स बता रहे हैं, जिसे आप आसानी से फॉलो करके अपनी पंजीकरण संख्या जान सकते हो-

  • इसके लिए सबसे पहले आपक्प यूपी एग्रीकल्चर के अधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा. आप इस लिंक पर क्लिक करके भी वेबसाइट पर जा सकते हो.
  • अब होमपेज पर आपको “अपना पंजीकरण नंबर जाने” आप्शन पर क्लिक करना होगा.
  • उसके बाद अगले पेज में आपको “अपना पंजीकरण नंबर जानें” लिंक पर क्लिक करना होगा.
  • अगले पेज में आपको कुछ जानकारी जैसे जनपद, ब्लाक, किसान आईडी, मोबाइल नंबर, खाता संख्या एंटर करना होगा.
  • सभी जानकारी भरने के बाद आपको Search बटन पर क्लिक करना होगा.
  • उसके बाद आपके सामने सभी डिटेल्स show होने लगेगी.

Direct Benefit Transfer Tracking System

यदि आप जानना चाहते हैं की आपके खाते में कब और कितना पैसा किसान विभाग की तरफ से भेजा गया है. तो आप निचे बताये स्टेप्स को फॉलो करके आसानी से जान सकते हो.

  • इसके लिए सबसे पहले आपको DBT Agriculture के अधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा.
  • उसके बाद आपको होमपेज पर “अनुदान खाते में भेजने की प्रगति जानें” आप्शन पर क्लिक करना होगा.
  • फिर उसके बाद आपको अगले पेज में जनपद, ब्लाक और किसान पंजीकरण संख्या एंटर करना होगा.
  • सभी जानकारी एंटर करने के बाद आपको खोजें बटन पर क्लिक करना होगा. उसके बाद आपके सामने सारी रिपोर्ट्स दिखाई देने लगेगी.
कृषकों हेतु सुविधाये एवं अनुदान  UP Agriculture
  • संकर धान पर 130 रूपये प्रति किलो तक तथा संकर मक्का व संकर ज्वार पर 100 रूपये प्रति किलो तक अनुदान।
  • सामान्यधान एवं गेहूं बीज की चयनित प्रजातियों पर 2 रूपये से 14 रूपये प्रति किलो तक अनुदान। दलहनी बीजों पर 40 से 45 रूपयेप्रति किलो व तिलहनी बीजों पर 33 से 40 रूपये प्रति किलो अनुदान ।
  • तिल के बीज पर बुन्देलखण्ड के किसानों को 90 प्रतिशत तथा अन्य क्षेत्र के किसानों को 50 प्रतिशत अनुदान |
  • 2 और 3 हार्सपावर के सोलर पम्प पर 70 प्रतिशत तथा 5 हार्सपावर के सोलर पम्प पर 40 प्रतिशत अनुदान |
  • कृषि यंत्रों पर 20 से 50 प्रतिशत तक अनुदान|
  • कस्टम हायरिंग सेन्टर पर 40 प्रतिशत तथा फार्म मशीनरी बैंक पर 80 प्रतिशत अनुदान ।
  • स्प्रिंकलर सेट पर 90 प्रतिशत तक अनुदान।
  • कृषि रक्षा रसायनों पर 50 प्रतिशत अनुदान।
  • बखारी पर 50 प्रतिशत अनुदान।
  • जिंक सल्फेट पर 50 प्रतिशत अनुदान।
  • जिप्सम पर 75 प्रतिशत अनुदान।
  • माइक्रो न्यूट्रियन्ट पर 50 प्रतिशत अनुदान।
  • बेरोजगार कृषि स्नातको के लिए एग्री जंक्शन योजना।
  • किसानों के ज्ञानवर्धन के लिए प्रदेश के अन्दर तथा बाहरप्रशिक्षणएंव भ्रमण की योजना।
UP Agriculture Complaint File / यूपी किसान पोर्टल के माध्यम से शिकायत दर्ज कैसे करें?

यदि आप किसी प्रकार की शिकायत उत्तर प्रादेश के कृषि विभाग के पास करना चाहते हो तो आप निचे बताई गयी प्रक्रिया को फॉलो करे बहुत आसानी से अपनी शिकायत दर्ज करवा सकते हो. तो चलिए इसके प्रोसीजर को जानते हैं.

  1. सबसे पहले यूपी एग्रीकल्चर विभाग  (UP Agriculture) की अधिकारिक वेबसाइट में जाएँ.
  2. अब यहाँ homepage में आपको लेफ्ट साइड में “सुझाव एवं शिकायतें” वाले option पर क्लिक करना होगा.
  3. अब अगले पेज में भी कई तरह के options आपके सामने होंगे. यहाँ पर आपको “किसानों एवं संबंधितों के लिए” व्वाले आप्शन पर click करना होगा.
  4. अब आपके सामने एक form खुलेगा. इसमें आपको अपने बारे में जानकारी और complaint भरना होगा. जैसे यहाँ पर अपना नाम, पता, जनपद, विकास खंड, शिकायत की जानकारी, फ़ोन नंबर, ईमेल (यदि हो तो) भरने के बाद “ऊपर दी गयी सभी जानकारी सही है” को tick करना होगा फिर submit कर देना होगा.

इस तरह से आप उत्तर प्रदेश की किसान विभाग के पास आसानी से अपनी शिकायत पहुंचा सकते हो. ये बहुत ही अच्छा विकल्प है. जिससे आप घर बैठे अपनी परेशानी से बारे में बता सकते हो. इससे सरकार आपकी सहायता करेगी.

UP Agriculture Corona Update for Farmer

अभी जैसा की आप सभी को पता होगा की पूरी दुनियां में कोरोना virus का प्रकोप चल रहा है. इसको देखते हुए सरकार ने हमारे देश में lockdown घोषित कर दिय है. अभी lockdown का तीसरा चरण चल रहा है. सरकार ने देश के सभी कारोबार को बंद करा दिया था. लेकिन अभी उत्तर प्रदेश के किसान भाइयों के लिए सरकार की तरफ से एक बहुत महत्त्वपूर्ण घोषणा की गयी है. इसके बारे में सभी किसान भाइयों को पता होना जरुरी है. तो चलिए हम इन घोषणाओं के बारे में जानते हैं.

  • कृषि मंत्री ने कोरोना राहत पैकेज को सराहा है. कहा सभी वर्गों के किसानों को इसका लाभ दिया जायेगा.
  • अन्नदाता किसान: कृषि कार्य को मिली छुट: अभी अब किसान भाई को lockdown से छूट मिली है. अभी वो अपने खेत का काम कर सकते हैं. इसके बारे में अधिक जानकारी के लिए इसके अधिकारिक वेबसाइट में जाएँ.

Portal New Updates: UP Agriculture

·        पहले बैंक ड्राफ्ट लाओ पहले सोलर पंप पाओ
·        INSITU यंत्रो की नयी व्यवस्था में अपलोडिंग की प्रगति रिपोर्ट
·        Bill Monitoring System – Directorate of Agriculture
·        कृषि यंत्रों के DBT की प्रगति (सोलर पंप के अतिरिक्त)
·        सोलर पंप लाभार्थी चयन सत्यापन प्रगति
·        किसान सहायता
·        सुझाव एवं शिकायतें
·        IFSC कोड खोंजे
·        यंत्रों की भौतिक लक्ष्य की चयन के सापेक्ष प्रगति रिपोर्ट
·        द मिलियन फारमर्स स्कूल (किसान पाठशाला) प्रतिभागी कृषक सूची
·        मृदा स्वास्थ्य कार्ड अनुश्रवण तंत्र
·        प्रमोशन ऑफ एग्रीकल्चर मैकेनाइजेशन फार इन – सीटू मैनेजमेंट ऑफ क्राप रेजिड्यू योजना अन्तर्गत कृषि यंत्रों का विवरण
·        35 कॉलम की लाभार्थीवार रिपोर्ट
·        डी० बी० टी० के माध्यम से वितरित अनुदान के लाभार्थियों की विस्तृत सूची
·        फार्म मशीनरी बैंक के लिए समूह पंजीकरण की सूची
·        उद्यान ए़वं खाद्य प्रसंस्करण विभाग उत्तर प्रदेश की योजनाओं के लिए पंजीकरण
·        ग्राम स्तर पर स्थानीय उद्यमियों के द्वारा मृदा परीक्षण प्रयोगशाला की स्थापना हेतु आवेदन
·        CRM Implements Empanelment

UP DBT Contact Information

UP Agriculture Registration and DBT Helpline Number

UP Agriculture 7235090578, 7235090574 (on a working day)

6392175756 (Relating to land conservation)

Email- [email protected]

Email- [email protected] (Related to Land Conservation)

UP Agriculture Kisan Samman

कृषकों हेतु सुविधाये एवं अनुदान  UP Agriculture
  • संकर धान पर 130 रूपये प्रति किलो तक तथा संकर मक्का व संकर ज्वार पर 100 रूपये प्रति किलो तक अनुदान ।
    सामान्यधान एवं गेहूं बीज की चयनित प्रजातियों पर 2 रूपये से 14 रूपये प्रति किलो तक अनुदान। दलहनी बीजों पर 40 से 45 रूपयेप्रति किलो व तिलहनी बीजों पर 33 से 40 रूपये प्रति किलो अनुदान ।
    • तिल के बीज पर बुन्देलखण्ड के किसानों को 90 प्रतिशत तथा अन्य क्षेत्र के किसानों को 50 प्रतिशत अनुदान |
    • 2 और 3 हार्सपावर के सोलर पम्प पर 70 प्रतिशत तथा 5 हार्सपावर के सोलर पम्प पर 40 प्रतिशत अनुदान |
    • कृषि यंत्रों पर 20 से 50 प्रतिशत तक अनुदान|
    • कस्टम हायरिंग सेन्टर पर 40 प्रतिशत तथा फार्म मशीनरी बैंक पर 80 प्रतिशत अनुदान ।
    • स्प्रिंकलर सेट पर 90 प्रतिशत तक अनुदान।
    • कृषि रक्षा रसायनों पर 50 प्रतिशत अनुदान।
    • बखारी पर 50 प्रतिशत अनुदान।
    • जिंक सल्फेट पर 50 प्रतिशत अनुदान।
    • जिप्सम पर 75 प्रतिशत अनुदान।
    • माइक्रो न्यूट्रियन्ट पर 50 प्रतिशत अनुदान।
    • बेरोजगार कृषि स्नातको के लिए एग्री जंक्शन योजना।
    • किसानों के ज्ञानवर्धन के लिए प्रदेश के अन्दर तथा बाहरप्रशिक्षणएंव भ्रमण की योजना।
  • अधिक जानकारी के लिए अपने जनपद के उप कृषि निदेशक से सम्पर्क करें।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here