SEO क्या है ? और सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन कैसे करते है (SEO IN HINDI) -2021

0
52
SEO IN HINDI
SEO IN HINDI
86 / 100

एसईओ  पोस्ट कैसे लिखे Beginner से लेकर Advance तक (SEO IN HINDI) 2021

SEO Friendly Content (SEO IN HINDI) में आप जानेंगे Seo Friendly Content आप कैसे लिख सकते हैं ? एक अच्छे content writer बनने के लिए आपको कुछ “Basic knowledge” होनी जरूरी है क्योकि जो आप content लिखेंगे उसे कई सारे लोग पंढेगे। SEO “Writing” के लिए आपको थोडी सी practice करनी होगी इस समय content बहुत अधिक मात्रा में “internet पर उपल्बघ है content” लिखने से पहले उस topic पर एक बार research करे आपका user क्या जानना चहता है. किस Type का उसे content पढना अच्छा लगता है ,

लोग उस content को कितने देर तक पढ रहे है और उस Blog में कितने Share हुए है SEO Content Writing in “Hindi” TIPS. SEO के लिए content की length कितनी होनी चाहिए per paragraph 10 से 20 और 30 शब्द होने चाहिए ! title tag को (H1) tag भी बोला जाता है ।अपने Blog post Content के लिए सरल simple  language में लिखे कई सारे एक शब्द के कई सारे simple  meaning होते है।

 

किसी भी वेबसाइट के लिए SEO एक महत्वपूर्ण पहलू है। यदि आप अपनी साइट पर SEO सही तरीके से उपयोग करते हैं, तो यह आपकी रैंकिंग को बहुत प्रभावित करता है और आपकी साइट गूगल सर्च रिजल्ट में टॉप रैंक प्राप्त कर सकती है।

 

SEO क्या है? (SEO IN HINDI)

SEO का पूरा नाम Search Engine Optimization है। इसकी मदद से, आप अपने blog को Google और popular search engine में नंबर 1 पर ला सकते हैं। जब हम Google या किसी अन्य search engine में किसी भी कीवर्ड को टाइप करके कुछ search करते हैं, तो Google आपको उस keyword से related content को दिखाता है। ये content सभी अलग-अलग blogs से आती है। SEO हमारे blog को search result में first position पाने में मदद करता है। यह एक ऐसी process है जो आपकी website को SERPs में टॉप पर रखती है और आपके blog पर visitors की list बढाने में मदद करती है।

 

SEO friendly article लिखने के लिए कौन कौन से factors की आवश्यकता पड़ती है ? (SEO IN HINDI)

  1. Keyword Research करें
  2. 2.Related Keyword use करें
  1. Title Tags (Headlines) को Optimize करें
  2. SEO Friendly URLs Create करें
  3. Internal linking और External Linking करें
  4. Use media और उसे ऑप्टिमाइज़ करें
  5. Keyword Stuffing Avoid करें
  6. Content-Length
  7. Quality content
  8. वेबसाइट की Loading Speed ठीक करें
  9. Grammar और Spelling पर ध्यान दें
  10. Crawl Error चेक करें
  11. Meta Descriptions को ऑप्टिमाइज़ करें

 

Keyword Research करें : SEO पूरी तरह से Keyword research पर निर्भर करता है। आसान शब्दों में कहें, तो Keyword Research SEO की सबसे पहली स्टेप है। इसलिए यह बहुत महत्वपूर्ण है कि आपको सही कीवर्ड चुनने आना चाहिए। SEO के लिए Keyword research कैसे करें?

  1. a. Use Google Suggest : Best keywords प्राप्त करने का यह सबसे आसान और अच्छा तरीका है। Google सर्च बॉक्स में बस अपने topic से related keyword search करें, यह search history के according suggestions देना शुरू कर देगा। ये keyword आपकी article को optimize करने के लिए बहुत अच्छे हो सकते हैं क्योंकि यह सीधे Google search data से आता है।

 

  1. b. Find Question Keywords : Question keywords आपकी कंटेंट को और अधिक आकर्षक बनाते हैं और high CTR प्राप्त करने में सहायता करते हैं। इस तरह के कीवर्ड ब्लॉग पोस्ट के लिए बहुत उपयोगी होते हैं।

 

  1. Using Google Keyword Planner : Google Keyword Planner Google द्वारा develop किया गया सबसे अच्छा free keyword research tool है। आप इसे किसी भी niche (टॉपिक) के लिए use कर सकते हैं। इसका use करके आप keyword competition, monthly searches, CPC आदि बहुत कुछ देख सकते हैं।
SEO IN HINDI
SEO IN HINDI
  1. Use Related Google Search : Google में search करने के बाद, आप अपने search result के नीचे कुछ related searches को देखते होंगे जिन्हें आप एक keyword के रूप में use कर सकते हैं।

 

Related Keyword उपयोग करें : सर्च इंजन आपकी आर्टिकल को समझने के लिए target keywords, related terms, keyword variations, और synonyms शब्द का उपयोग करते हैं। अपनी content में Target keyword से related keywords और longtail keyword का use करें। यह SEO content writing आपकी article को search result में top rank प्राप्त करने में help करती है।

 

Title Tags (Headlines) को Optimize करें  : टाइटल टैग कंटेंट पर सीटीआर बढ़ाने में अहम भूमिका निभाते हैं। यदि आप इसे सही ढंग से ऑप्टिमाइज़ नहीं करते हैं, तो आप अपनी कंटेंट क्षमता को बेहतर बनाने का अवसर खो देते हैं।

 

SEO Friendly URLs Create करें :  URL सर्च इंजन को यह समझने में मदद करता है कि आपका ब्लॉग पोस्ट किस बारे में है और जब हम URL में अपना Main keyword जोड़ते हैं, तो सर्च इंजन आसानी से पता लगा लेते हैं कि कंटेंट किस बारे में है। यही कारण है कि आपको अपने URL में Keywords जोड़ना चाहिए।

 

Internal linking और External Linking करे :  External links आपकी कंटेंट को और अधिक उपयोगी बना देते हैं। लेकिन Internal linking और External Linking करें ।एक बात जो ध्यान में रखनी चाहिए, Linking site trusted और reputable होनी चाहिए। अन्यथा, आपकी साइट को penalized किया जा सकता है। Internal linking आपकी content को search engine और users दोनों के लिए relevant बनाते हैं। Internal linking आपकी पोस्ट को informative बनाती है। इसके अलावा, विजिटर आपकी साइट पर अधिक समय बिताते हैं जो bounce rate को कम करता है। इसके अलावा Google आपके content को Quality content समझता है।

 

Use media और उसे ऑप्टिमाइज़ करें : एक इमेज 1000 शब्दों के बराबर होती है।और सबसे बुरी बात यह है कि Google इमेज को नहीं पढ़ सकता है। यह छवि के Alt Tag के आधार पर इमेज को read करता है। यही कारण है कि हमेशा अपनी Images का सही नाम दें। इसके अलावा, आपको image के Alt tag पर भी ध्यान देना चाहिए.

 

Keyword Stuffing Avoid करें : पुराने दिनों में, keyword Stuffing का उपयोग किसी भी पेज को रैंक करने के लिए किया जाता था। लेकिन अब Google बहुत smart हो गया है।यदि आप अपनी content में keyword stuffing करते हैं, तो गूगल आपकी कंटेंट को रैंक Keyword Stuffing Avoid नहीं करेगा। इसलिए, अपनी कंटेंट में एक ही keyword बार बार उपयोग करने के बजाय LSI keywords और उनसे related keyword का उपयोग करें।

 

Content Length : किसी भी short post की तुलना में Long content सर्च इंजन में बेहतर प्रदर्शन करती है। यदि आप अपनी ब्लॉग छोटी पोस्ट लिखते हैं, तो आपकी पोस्ट बिना बकवास के कम से कम 1000 शब्द की होनी चाहिए।

 

Quality content : यदि आप विजिटर के लिए उपयोगी और informative ब्लॉग पोस्ट नहीं लिखते हैं, तो कोई भी आपकी साइट पर विजिट करना पसंद नहीं करेगा और रिजल्ट आप अपने ब्लॉग पर कचरा स्टोर कर रहे हैं, और कुछ नहीं। हमेशा unique और quality content लिखने का प्रयास करें।

 

वेबसाइट की Loading Speed ठीक करें : Google fast loading site को अधिक महत्व देता है। यही कारण है कि Google ने PageSpeed Insights Tool बनाया है ताकि आप अपनी साईट कि लोडिंग स्पीड का पता लगा सकें।

 

Grammar और Spelling पर ध्यान दें : यदि आप अपनी कंटेंट में grammar और spelling पर ध्यान देते हैं, तो यह आपकी content quality को improve करता है।

 

Crawl Error चेक करें : (SEO IN HINDI)

कभी-कभी ऐसा होता है कि Google आपके पेज को crawl नहीं कर पाता है और उस पेज के लिए Crawl error दिखाता है। आपका पेज Google में रैंक नहीं कर पाता है। Crawl Errors चेक करने के लिए, Google Search Console में लॉग इन करें, फिर Coverage पर क्लिक करें। यहां आप अपनी साइट की error URL को देख पाएंगे।

 

Meta Descriptions को ऑप्टिमाइज़ करें : Title visitor के interest को attract करता है और Meta description आपकी content का एक detailed overview है जो visitor को आपकी article पर click करने के लिए मजबूर करता है।Meta description भी आपके कंटेंट पर CTR बढ़ाने में एक important role निभाता है।

हालांकि, Google इसे ranking factor के रूप में उपयोग नहीं करता है। लेकिन SEO friendly article के लिए, हर छोटी चीज मदद कर सकती हैं।हालांकि, Google इसे ranking factor के रूप में उपयोग नहीं करता है। लेकिन SEO friendly article के लिए, हर छोटी चीज मदद कर सकती हैं।

 

SEO आपके ब्लॉग के लिए क्यों जरूरी हैं ? (SEO IN HINDI)

SEO क्या है? आपने उपर पढ़ा, अब मैं आपको बताऊंगा ब्लॉग और वेबसाइट के लिए यह क्यों महत्वपूर्ण है? हम अपनी वेबसाइट की ट्रैफिक और रैंकिंग बढ़ाने के लिए SEO का इस्तेमाल करते हैं।

For example,

आपने एक कंटेंट लिखा है पर उसकी SEO नहीं की है। जब कोई यूजर आपके कंटेंट से रिलेटेड कीवर्ड सर्च करेगा, तो सर्च इंजन आपकी साईट को सर्च रिजल्ट में नहीं दिखायेंगे। भलें ही आपने quality content क्यों न पब्लिश किया हो वह बेकार मानी जाएगी।जब आप अपने ब्लॉग SEO का इस्तेमाल करते हैं, तो आपको तुरंत रिजल्ट नहीं मिलेगा, इसके लिए आपको धैर्य रखना होगा और अपना काम करते रहना होगा।

 

SEO के कितने प्रकार हैं? (SEO IN HINDI)

SEO दो प्रकार के होते हैं :

on-Page SEO – कंटेंट क्वालिटी, कीवर्ड, टाइटल, टैग, कीवर्ड रिसर्च आदि को ऑप्टिमाइज़ करना on Page SEO कहलाता है।

off Page SEO –  इस SEO process में, link building और promotions शामिल हैं। हमें अपने blog को social media site पर promote करना होता है, popular blog पर जाकर उनके article पर comment करना होता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here